Saturday, March 2, 2019

सुकन्या समृद्धि योजना


सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत तत्कालीन भाजपा सरकार द्वारा 22 जनवरी 2015 को किया गया I 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' के अंतर्गत शुरू किये गए इस योजना का उद्देश्य बचत और निवेश को प्रोत्साहित करना और लड़कियों के भविष्य को सुरक्षित करना है I केंद्र सरकार के इस महत्वाकांक्षी योजना का  शुभारम्भ करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे मध्यम वर्ग को वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर बनाने वाला योजना बताया I क्योकि यह योजना लड़कियों के उच्च शिक्षा और शादी का के खर्च की पूर्ति के लिए ही शुरू किया गया है I जिससे माता- पिता के ऊपर अतिरिक्त बोझ न आये I सुकन्या समृद्धि योजना की  महत्वपूर्ण बिंदु इस प्रकार है I
  1. सुकन्या समृद्धि योजना की योग्यता शर्ते : कोई भी भारतीय व्यक्ति जिसकी बेटियां है और जो आवश्यक दस्तावेज  की शर्तो को पूरा करता है, वह योग्य है सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के लिए I एक लड़की के नाम से सिर्फ एक ही खाता खुलवाया जा सकता और अधिकतम दो लड़कियों तक सीमित है I 
  2. आवश्यक दस्तावेज: सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज की शर्तो को पूरा करना पड़ेगा I खाता खुलवाने के लिए कोई भी नागरिकता पहचान पत्र जैसे पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर कार्ड, राशन कार्ड या अन्य दस्तावेज जो सरकार द्वारा जारी किया गया हो I इसके अलावा कोई भी प्रमाण पत्र जो निवासीय स्थिति को प्रमाणित करता हो, जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट इत्यादि I और लड़की जिसके नाम से खाता खुलना है उसका जन्म प्रमाण पत्र या उसका आधार कार्ड I  
  3. खाता कहां खोले: सरकार ने लगभग सभी वाणिज्यिक बैंको और पोस्ट ऑफिस को अधिकृत कर रखा है, सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए I आप अपनी सुविधानुसार किसी भी निकटम बैंक शाखा या पोस्ट ऑफिस में जाकर सुकन्या समृद्धि योजना खाता खुलवा सकते है I
  4. ब्याज दर:  सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खुलने वाले खातों में जमा राशि पर ब्याज दिया जाता है I लेकिन यह ब्याज की दर स्थायी नहीं है केंद्र सरकार प्रत्येक वित्तीय वर्ष के लिए ब्याज दर निर्धारित करती है I जब यह योजना शुरू किया गया था तो ब्याज दर 9.1% (2014-15) था I बाद में इसको 2015-16 के लिए 9.2% कर दिया गया फिर 8.6% ( 2016-17 पहली छमाही ), 8.4%( 2016-17 दूसरी छमाही ), 8.4% (2017-18 पहली छमाही ), 8.3% ( 2017-18 दूसरी छमाही ) I ब्याज की वर्तमान दर 2018-19 के लिए 8.5% निर्धारित किया गया है I  
  5. कर मुक्त: सुकन्या समृद्धि योजना बचत के साथ- साथ निवेश को भी प्रोत्साहित करता है I क्योकि इसके अंतर्गत तिहरा कर लाभ मिलता है, सुकन्या समृद्धि योजना के लिए दिया जाने वाला प्रीमियम, ब्याज और मिलने वाली एक मुश्त राशि तीनो कर मुक्त होते है I प्रत्येक वित्तीय वर्ष में  ₹ 1,50,000 तक की प्रीमियम राशि पर भारतीय आयकर विधान के सेक्शन-80C  के अंतर्गत कर से छूट मिलता है I
  6. न्यूनतम और अधिकतम जमा राशि : सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खुलने वाले खातों पर एक वित्तीय वर्ष के दौरान ₹ 1,50,000 अधिकतम और विलम्ब शुल्क : सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खुलने वाले खातों में एक वित्तीय वर्ष में कम से कम ₹ 1,000 जमा करना होता है ऐसा न करने की स्थिति में प्रतिवर्ष ₹ 50 के दर से विलम्ब शुल्क देय होता है  हालाँकि खाते जारी रहते है न्यूनतम राशि न जमा करने की स्थिति में भी  1,000 न्यूनतम राशि जमा करना होता है, जोकि ₹ 100 के गुणक में जमा किया जा सकता है I
  7. खाता हस्तांरण: सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खुलने वालो खातों को एक बैंक शाख़ा से दूसरे बैंक शाख़ा और एक बैंक से दूसरे बैंक आसानी से हस्तांतरित किया जा सकता है I यहाँ तक कि बैंक से पोस्ट ऑफिस या पोस्ट ऑफिस से बैंक में भी आसानी से हस्तांतरित किया जा सकता है I इसके लिए सम्बंधित शाख़ा में सिर्फ एक लिखित आवेदन देना होगा और हस्तांतरित करने का कारण बताना होगा और आपका खाता हस्तांतरित हो जायेगा 
  8. परिपक्वता अवधि : सुकन्या समृद्धि योजना में खुलने वाले खाते 21 साल के बाद परिपक्व हो जाते है, और 21 साल बाद पुरे पैसे मिल जाते है I अर्थात जब लड़की कि उम्र 21 साल की होती है तो पुरे पैसे मिल जाते है I  खाता खुलवाने के लिए कोई न्यूनतम उम्र सीमा नहीं है I
  9. आंशिक निकासी : सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खुलने वाले खातों पर मिलने वाली राशि का आधा हिस्सा लड़की के 18 साल की उम्र पूरा करने बाद निकला जा सकता है I जिसका उपयोग लड़की के उच्च शिक्षा के खर्चों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है I बाकी राशि 21 साल की उम्र पूरा होने पर निकला जा सकता है I यदि लड़की की शादी 18 साल की उम्र में होती है तो पूरा पैसा निकाला जा सकता है I किसी भी स्थिति में 18 साल की उम्र से पहले निकासी संभव नहीं है किसी गंभीर बीमारी जैसे मामलो में निकासी हो सकती है I 
  10. विलम्ब शुल्क : सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खुलने वाले खातों में एक वित्तीय वर्ष में कम से कम ₹1,000 जमा करना होता है ऐसा न करने की स्थिति में प्रतिवर्ष ₹ 50 के दर से विलम्ब शुल्क देय होता है  हालाँकि खाते जारी रहते है न्यूनतम राशि न जमा करने की स्थिति में भी I 
सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता कैसे खोले : सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए नागरिक पहचान पत्र ( आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, राशन कार्ड या अन्य कोई भी नागरिकता पहचान पत्र ), निवास प्रमाण पत्र ( आधार कार्ड, वोटर कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट या अन्य कोई भी प्रमाण पत्र जो आपकी निवासीय स्थिति को प्रमाणित करता हो ), लड़की का जन्म प्रमाण पत्र या आधार कार्ड और पासपोर्ट आकार के फोटो के साथ अपने निकटम बैंक शाख़ा या पोस्ट ऑफिस में संपर्क करे I शाख़ा से सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने का फॉर्म लेकर भरे और इसे वह जमा करदे आपका खाता खुल जायेगा I

No comments:

Post a Comment