Friday, May 31, 2019

अटल बिहारी बाजपेयी- राजनीतिक सफ़रनामा

अटल बिहारी बाजपेयी एक दूरदर्शी राजनेता थे, जिन्हे भारतीय राजनीति में मूल्य आधारित राजनीति और ईमानदारी के लिए जाना जाता है I तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी बाजपेयी की गिनती भारत के उन गिने- चुने राजनेताओ में किया जाता है, जिन्होंने अपनी निर्णय क्षमता और दूरदर्शिता से भारत को नई ऊचाइयों पर पहुँचाया I अपने 50 साल से ज्यादा के राजनीतिक करियर में अटलजी ने कई संवैधानिक और राजनीतिक पदों को ग्रहण किया I आइये नज़र डालते है उनकी राजनीतिक यात्रा पर I
  • 1924- मध्य प्रदेश के ग्वालियर में जन्म I
  • 1942- 18 वर्ष की उम्र में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े I
  • 1942- भारत छोडो आंदोलन में भाग लिया और जेल गए I
  •  1951- जनसंघ के संस्थापक सदस्य बने I
  • 1951- श्यामा प्रसाद मुख़र्जी द्वारा कांग्रेस के मज़बूत विकल्प के रूप में स्थापित राजनीतिक दल भारतीय जनसंघ के राष्ट्रीय सचिव बने I 
  • 1953- जनसंघ के टिकट पर लखनऊ से अपना पहला लोकसभा चुनाव हारे I
  • 1955- गैर-कश्मीरी भारतीयो के साथ भेदभाव और कश्मीर में धारा-370 हटाने की मांग को लेकर श्यामा प्रसाद मुख़र्जी के साथ भूख हड़ताल पर बैठे I
  • 1957- जनसंघ प्रत्याशी के रूप में लखनऊ, मथुरा और बलरामपुर से लोकसभा का चुनाव लड़ा लखनऊ और मथुरा से चुनाव हारे लेकिन बलरामपुर से चुनाव जीतकर पहली बार संसद पहुंचे I
  • 1962- जनसंघ प्रत्याशी के रूप में कांग्रेस प्रत्याशी सुभद्रा जोशी से बलरामपुर लोकसभा का चनाव हारे I
  • 1962- संसद के उच्च सदन राज्य सभा के लिए चुने गए I
  • 1967- कांग्रेस के सुभद्रा जोशी को हराकर बलरामपुर से लोकसभा सदस्य चुने गए I
  • 1968- दीनदयाल उपाध्याय के निधन के बाद भारतीय जनसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए I
  • 1971- ग्वालियर से जनसंघ प्रत्याशी के रूप में लोकसभा का चुनाव जीतकर संसद पहुंचे I
  • 1977- जनता पार्टी प्रत्याशी के रूप में नई दिल्ली लोकसभा सीट से चुने गए ( 1977 में जनसंघ समेत कई विपक्षी पार्टियों का जनता पार्टी में विलय कर दिया गया था ) I
  • 1977- केंद्र में पहली गैर कांग्रेसी सरकार में विदेश मंत्री बने I
  • 1980- जनता पार्टी प्रत्याशी के रूप में नई दिल्ली लोकसभा सीट से चुने गए ( 1977 में जनसंघ समेत कई विपक्षी पार्टियों का जनता पार्टी में विलय कर दिया गया था ) I
  • 1980- राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सदस्य बने रहने को लेकर जनता पार्टी से विवाद के बाद जनसंघ के पुराने सदस्यों ने जनता पार्टी से अलग होकर अटल बिहारी बाजपेयी के नेतृत्व में नई राजनीतिक दल ,भारतीय जनता पार्टी ' का गठन किया अटल बिहारी बाजपेयी भाजपा के पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष बने I  
  • 1984- ग्वालियर से भाजपा प्रत्याशी के रूप में कांग्रेस के माधव राव सिंधिया से लोकसभा का चुनाव हारे I
  • 1986- संसद के उच्च सदन राज्य सभा के लिए चुने गए I
  • 1991- लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी के रूप में लोकसभा के लिए चुने गए I
  • 1992- भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'पदम् विभूषण' से सम्मानित किये गए I
  • 1994- सर्वश्रेष्ठ सांसद से सम्मानित I 
  •  1996- लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी के रूप में लोकसभा के लिए चुने गए I
  • 1996- पहली बार भारत के प्रधानमंत्री बने I
  • 1998- लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी के रूप में लोकसभा के लिए चुने गए I
  • 1998- दूसरी बार भारत के प्रधानमंत्री बने I
  • 1999- लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी के रूप में लोकसभा के लिए चुने गए I
  • 1999- तीसरी बार भारत के प्रधानमंत्री बने I
  • 2004- लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी के रूप में लोकसभा के लिए चुने गए I
  • 2005- सक्रिय राजनीति से सन्यास लिया I
  • 2015- भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' से सम्मानित किये गए I
  • 2018- 16 अगस्त को नई दिल्ली में निधन I


No comments:

Post a Comment